एक जननेता ऐसा भी !!!

माणिक सरकार की सादगी के बारे में पढ़ा-लिखा तो बहुत था … मगर इस बार ‘लगभग’ फर्स्ट हैंड अनुभव हुआ है… उनकी इस सादगी को करीब से देखने -सुनने समझने का अवसर मिला है मेरे बेहद करीबी दोस्त पार्थो को … एक संक्षिप्त टिप्पणी के साथ पार्थो ने इस जननेता के साथ इत्तेफाकन हुयी अपनी…